Monday, September 19, 2016

Pakistan to get destroyed in 2017. 2017 तक पाकिस्तान ख़त्म हो सकता है ।

2017 तक पाकिस्तान ख़त्म हो सकता है ।

ज्योतिष के अनुसार पाकिस्तान के भविष्य पर चर्चा करें जिसका निर्माण दिनांक १४-०८ -१९४७ समय सुबह ९.३० बजे स्थान कराची में हुआ था जिसमें भाग्य स्थान से पूर्ण कालसर्प योग भी है । इस के आधार पर पाकिस्तान की कुंडली कन्या लगन तथा मिथुन राशी की बनती है.लगन कुंडली के अनुसार नावें घर में बैठा हुआ राहु पाकिस्तान की मानवता विरोधी ताकत तथा हिंसात्मक रवैये को दर्शाता है।

दसवें घर अष्टमेश मंगल का एकादशेश चन्द्र के साथ युति पाक सरकार की शान्ति विरोधी नीति व भारत के प्रति प्रतिशोध तथा कानून व्यवस्था को प्रकट करता है .लग्नेश बुध का सूर्य और शुक्र के साथ एकादश भावः में युति बनाना मानव विरोधी ताकत के प्रति शक्ति का प्रयोग तथा उसमे अन्य राष्ट्रों का सहयोग भी दर्शाता है। इसी लिए ज्योतिष आधार पर कुंडली विवेचन से यह बात स्पष्ट हो जाती है कि पाकिस्तान मानव विरोधी जिन ताकतों का भारत के साथ प्रयोग करता आ रहा है उसमे उसे पडोसी देशों से लाभ हो सकता है।

भारत एवम् पाक की प्रचलित नाम राशि क्रमश: धनु एवम् कन्या है। धनु एवम् कन्या राशि के स्वामी क्रमश: देव गुरू-बृहस्पति एवम् असुर-कुमार बुध है।बुध एवम् बृहस्पति में परस्पर शत्रुता है। देवगुरू बृहस्पति क्षमावान, ज्ञानवान, अहिंसावादी एवम् सात्विक ग्रह है, जबकि इसके विपरीत बुध बेहद चालक-अवसरवादी-बेईमान एवम् समयानुसार बदलाव की प्रकृति के मालिक है।

स्वतंत्र भारत की जन्मकुंडली में कर्क राशिस्थ होकर मूलभाव से सटाष्टक योग बना रहा है। पाकिस्तान के कुटिल सैन्य तंत्र के कारण आतंकवादी तत्व महाविनाशकारी परमाणु अस्त्रों को प्राप्त कर सकते है, जिससे भारत के गुजरात प्रांत में अहमदाबाद एवम् राजकोट क्षेत्र विशेष प्रभावित होंगे। पाकिस्तान आयोजित आतंकवादी आक्रमण के कारण भारत-पाक संबंधों में तनाव चरम सीमा पर होगा।

भारत-पाकिस्तान व्यापार संधि खटाई में पड़ सकती है। पाक का नापाक गणित: 2017 में हो सकता है इसका परिणाम भारत-पाक युद्ध में पाक को चीन का पूर्ण सहयोग होगा !चीन की बढ़ती ताकत के मद्देनजर पाकिस्तान में भारत-चीन संबंध को अलग नजरिए से देखा जाने लगेगा । इसमें 2017 तक भारत- पाक युद्ध की आशंका है किन्तु बाद में अंतर्राष्ट्रीय दबाव के चलते चीन पीछे हटेगा और पाकिस्तान ख़त्म हो सकता है ।