Sunday, April 10, 2016

नकली शंकराचार्य

अद्वैत परम्परा के मठों के मुखिया के लिये प्रयोग की जाने वाली उपाधि है "शंकराचार्य"। शंकराचार्य हिन्दू धर्म में सर्वोच्च धर्म गुरु का पद है, जो कि बौद्ध धर्म में दलाईलामा एवं ईसाई धर्म में पोप के समकक्ष है। जिसकी शुरुआत आदि शंकराचार्य जी ने की। आदि शंकराचार्य जी ने चार मठ में शंकराचार्य बिठाये थे :-
1 ) उत्तर मठ, ज्योतिर्मठ जो कि जोशीमठ में स्थित है।
2) पूर्वी मठ, गोवर्धन मठ जो कि पुरी में स्थित है।
3) दक्षिणी मठ, शृंगेरी शारदा पीठ जो कि शृंगेरी में स्थित है।
4) पश्चिमी मठ, द्वारिका पीठ जो कि द्वारिका में स्थित है। बाद में एक और मठ बना जिसे मान्यता दी गयी। लेकिन आजकल बहुत नकली शंकराचार्य घूम रहे हैं सड़कों पर। करीब 65 शंकराचार्य आपको TV -अख़बारों में दिखेंगे , पर इनमे सिर्फ 5 ही असली हैं, बांकी सभी नकली-ठग स्वयम्भू "शंकराचार्य" हैं।
"दिल्ली पीठ" का कोई इतिहास ही नहीं है, जहाँ के दयानंद नाम के व्यक्ति ने खुद को शंकराचार्य घोषित किया, उन्हें आपने Peace Tv वाले डॉ जोकर नाईक के साथ धर्म की दलाली करते हुए अक्सर देखा होगा। अगर नहीं देखा आपने तो इनकी हरकतें यहाँ देखिये :-https://www.youtube.com/watch?v=X8zasuy9FBA
उतराखंड के मित्र ने बताया करीब 14-15 साल पहले एक आदमी को हरिद्वार में सायकिल चोरी में पकड़कर पब्लिक ने पिटा था -- वो बाद में खुद को शंकराचार्य बताने लगा। जब मैंने उसे जोकर नाईक साथ बैठ धर्म की दलाली करते देखा तो दंग रह गया। अब वो श्रीमान तो नहीं रहे पर उनके पुत्र शंकराचार्य" बने घूम रहे हैं।
शंकराचार्य कोई नेतागिरी या बिजनेस हॉउस नहीं जहाँ बाप की पदवी बेटे को मिले --- समस्त धर्म ग्रंथों के ज्ञान के आधार पर परीक्षा में पास हुए साधक को शंकराचार्य बनाया जाता है। पर नकली ठगों ने "जमात" और "मिशिनरी" से पैसे खाकर स्यंभू शंकराचार्य बने बैठे हैं।
मैं इन इस्लाम प्रेमी शंकराचार्य जी को सादर प्रणाम करते हुए उनसे तथ्य आधारित इस्लाम की कुछ खूबियाँ जान चाहूँगा जिसे देख दोनों पिता-पुत्र इस्लाम की मार्केटिंग करते आ रहे हैं। सबूत के तौर पर आप सिर्फ तथ्य आधारित इस्लाम या कुरान या अल्लाह या हमारे रसूल साहब की कोई खूबी बताएं जिससे आप इस्लाम के प्रशंसक बने ?
अगर अपने Sponsors के खिलाफ वयान देने में में आपको आर्थिक हानि का खतरा है तो आपसे अनुरोध है की आप फ़िल्मी इस्लाम को छोड़ वास्तविकता से परिचित होयें -- अर्थात आप कुरान पढ़ें -- हिंदी-अंग्रेजी सबमे उपलब्ध है--- पूरी किताब पढना संभव न हो तो --- कुछ सूरा और आयत आपको बता रहा हूँ प्लीज़ पढ़िए ---
1) सूरा 2 आयत 190 से 195 , सूरा 9 आयत 5, जिसमे क़त्ल-खून-खराबा का सन्देश कुरान के अल्लाह ने दिया। 
2) सूरा 33 आयत 37 और 50 जिसमे कुरान के अल्लाह चचेरी-ममेरी-फुफेरी-मौसेरी बहन और सगी बहु से सेक्स का अधिकार मुहम्मद सहित सभी मुसलमानों को देते हैं।
3) इसके अलावे आप सूरा -बकरा 2 आयत 223 पढ़िए जिसमे कुरान के अल्लाह औरतों को खेती की तरह जोतने की सलाह देते हैं। सूरा बकरा 2 आयत 228 जिसमे औरत से मर्द का दर्ज ऊपर है। प्लीज़ पढियेगा सूरा -बकरा 2 आयत 282 पढ़िए जिसमे बलात्कार पीड़ित महिला को गवाह लाने होंगे 4 -- अगर औरत गवाह है तो कुल 8 गवाह ---क्योंकि औरतों की गवाही मर्दों की आधी है कुरान के अल्लाह के हिसाब से।
इसके अलावे जन्नत में शराब की नदी और औरत (हूर) और गिलिमा (अल्प व्यसक बच्चे) सेक्स के लिए सप्लाय करने वाले अल्ला की कथा अनंत है. . … आप इतना सा पढ़ लीजिये आँखों में लगा इस्लामी सुनहरा ख्याल बदल जायेगा। आप नकली ही सही पर आपने आदि शंकराचार्य जी का नाम अपने साथ लगाया हुआ है अतः आपकी पदवी को पुनः प्रणाम करता हूँ __/\__ ‪#‎DrAlam‬