Thursday, October 29, 2015

prediction from 2014-2025

Aditya Agnihotri's photo.💥प्रकृति भी अब कुछ कर गुजरना चाहती है👇
👉सन् 2014:- प्राकृतिक आपदाओं का बढना
👉सन् 2015:- बाढ, भूकम्प और ज्वालामुखी से प्रलयंकारी विनाश
👉सन् 2016:- पाकिस्तान में भयंकर भूकंप
👉सन् 2017:- मध्यपूर्व के देशों का बम धमाकों के कारण विनाश
👉सन् 2018:- अमरीका, चीन और जापान द्वारा युद्ध का सामना और असंख्य मानवों की अभूतपूर्व जनहानि
👉सन् 2019:- राजनीतिज्ञों के प्रभुत्व का लोप होना और मानवजाति का अपनी रक्षा हेतु संतों के पास दौडना।
👉सन् 2020:- विनाश प्रक्रिया में कमी और वातावरण में ईश्‍वरीय चैतन्य के कणों की प्रधानता
👉सन् 2021:- मानवजाति में अध्यात्म के पुर्नजागरण की स्थापना के लिए सहायक तथा पूरक वातावरण
👉सन् 2022:- वातावरण में सुख एवं उत्साह अनुभव होना
👉सन् 2023:- वातावरण स्थिर होना
👉सन् 2024:- आंतरिक एवं बाह्य जीवन में स्थिरता आना
👉सन् 2025:- उन्नत साधना का बीज और साधकों की मोक्ष की ओर आध्यात्मिक यात्रा। मानव जाति में अध्यात्मिक पुर्नजागरण के युग का आरंभ।