Tuesday, September 8, 2015

नेताजी और हिटलर के कारण मिली भारत को आज़ादी

 
सत्य जो हमे नहीं बताया गया! (भाग 1)
नेताजी और हिटलर के कारण मिली भारत को आज़ादी
****************************************************

सुभाषचन्द्र बोस जी ने सिर्फ आजाद हिन्द फ़ौज का नहीं
बल्कि आजाद हिन्द सरकार का भी कर लिया था
जिसे विश्व के 11 देशो ने मान्यता भी दे दी थी
अप्रैल 1944 में रंगून में उन्होंने आज़ाद हिन्द बैंक (Bank of Independence)
की स्थापना कर मुद्रा भी छापना शुरू कर दिया था
जिस से आजाद हिन्द फ़ौज के लिए भारत के लोगो द्वारा दिया जा रहे धन को सुरक्षित रखा जा सके
फ़रवरी 1946 में भारतीय नोसेना ने विद्रोह कर दिया था
अप्रैल 1946 में ब्रिटिश पुलिस ने हड़ताल कर दी थी
जुलाई 1946 में डाक विभाग ने हड़ताल कर दी थी
अगस्त 1946 में भारतीय रेल ने हड़ताल का नोटिस दे दिया था
1964 में भारत की आज़ादी के समय ब्रिटेन के प्रधान मंत्री रहे क्लेमेंट एटली (Clement Attlee) भारत आये और बंगाल के राज्यपाल भवन में उन्होंने कहा की
"भारत को आजादी देना हमारी मजबूरी थी"
क्योंकि हिटलर ने द्वितीय विश्व युद्ध में अगर वो ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था को ध्वस्त कर दिया और उनकी कमर तोड़ दी थी
ऊपर से नेताजी के द्वारा इतने बड़े स्तर पर फौज बना लेना भी बहुत बड़ा कारण रहा
हिटलर ने जापान को निर्देश देकर बाध्य किया की वो नेताजी की आजाद हिन्द फौज बनाने सहायता करे
इसीलिए भारत की आज़ादी में बहुत बड़ा योगदान हिटलर का है
भूल जाइये की अमेरिका की फिल्मो में हिटलर को केवल एक खलनायक के रूप में दिखाया जाता है लेकिन भारत के लिए नेताजी जी की तरह हिटलर एक नायक है यह बात हर भारतीय को पता होनी चाहिए
नेताजी के प्रयास और हिटलर द्वारा ब्रिटेन की कमर तोड़ देना इसका बड़ा योगदान है हमारी आजादी में
नहीं तो आज भी भारत गुलाम होता
*****************************************************
***************
स्त्रोत: श्री योगेश मिश्र (राजीव भाई के मित्र)
****************************************************
***********
जय हिन्द
स्वदेशी रक्षक