Friday, March 27, 2015

COWS AND ISLAM

एक मुस्लिम ने मुझसे गाय को माता मानने के विषय में कुछ ऐसा सवाल किया और उसको मुझे जवाब देना पड़ा...
गाय को माँ मानकर पूजने के लिए किसी ने कहा कि आप जानवर को भी पूजते हो... गाय माता कैसे हो सकती है???
जहाँ तक बात है जानवर को पूजने की तो आप ये याद कीजिये कि मूसा ने आमीन को जिन्दा करने के लिए एक गाय के बछड़े की मांग की थी...
...
आखिर वो काम किसी और जानवर से क्यों नहीं हो सकता था???
मूसा ने गाय की पूँछ के एक बाल से आमीन को जिन्दा कर दिया तो आप ये समझो कि जब एक बाल में एक इंसान को फिर से जन्म देने की ताकत है तो पूरी गाय में कितने गुण होंगे??? ये तो बात रही इस्लाम की...
अब आते हैं सनातन धर्म पर क्योंकि गाय को हम सनातनी पूजते हैं...
गाय में ईश्वर के गुण हैं और इंसान के जीवन में एक गाय जितना महत्व है ये बात आप इससे अंदाज़ा लगा सकते हैं कि माँ के बाद एक गाय का ही दूध ऐसा है जो नवजात बच्चे को माँ के दूध बराबर लाभ पहुंचाता है...
और इसीलिए गाय में सनातनी लोग माँ के रूप में मानते हैं विश्वास करते हैं...