Sunday, March 15, 2015

वेद में गौमाँस भक्षण का स्पष्ट विरोध, Beef forbidden in VEDAS

 वेद में गौमाँस भक्षण का स्पष्ट विरोध
ऋग्वेद 8.101.15– मैं समझदार मनुष्य को कहे देता हूँ की तू बेचारी बेकसूर गाय की हत्या मत करना, वह अदिति हैं अर्थात काटने- चीरने योग्य नहीं हैं.
ऋग्वेद 8.101.16– मनुष्य अल्पबुद्धि होकर गाय को मारे कांटे नहीं.
अथर्ववेद 10.1.27–तू हमारे गाय, घोड़े और पुरुष को मत मार.
अथर्ववेद 12.4.38 -जो(वृद्ध) गाय को घर में पकाता हैं उसके पुत्र मर जाते हैं.
ऋग्वेद 6.28.4–गायें वधालय में न जाये
अथर्ववेद 8.3.24–जो गोहत्या करके गाय के दूध से लोगो को वंचित करे, राजा तलवार से उसका सर काट दे
यजुर्वेद 13.43–गाय का वध मत कर , जो अखंडनीय हैं
अथर्ववेद 7.5.5–वे लोग मूढ़ हैं जो कुत्ते से या गाय के अंगों से यज्ञ करते हैं
यजुर्वेद 30.18-गोहत्यारे को प्राण दंड दो ।
ऐसे में मीडिया वाले भारत विरोधी प्रचार का झंडा हमेशा क्यों उठाये रहते है और
क्यों विदेशी मजहबों की गुलामी करते है ये समझ नहीं आता ।