Sunday, December 28, 2014

SANATAN VEDIC SCIENCE OF DHARMA &BHARAT

बुद्ध से पहल कोई बुद्धिस्ट नहीं था ।
जीसस से पहले कोई ईसाई नहीं था ।
मुहम्मद से पहले कोई मुसलमान नहीं था ।
महावीर से पहले कोई जैनी नहीं था ।
नानक से पहले कोई सिक्ख नहीं था ।
लेकिन
कृष्ण से पहले ,
राम से पहले ,
हरिशचन्द्र से पहले,
वशिष्ट से पहले,
गौतम, कपिल, कणाद,भरद्वाज, विश्वामित्र,अत्री, द्रोण आदि से भी पहले
सब सनातन वैदिक धर्मी थे |
क्योंकि धर्म किसी व्यक्ति विशेष के द्वारा आरम्भ नहीं होता वो तो ईश्वर के द्वारा सीधा ही वेद के द्वारा मानव मात्र को समान रूप से संविधान दिया गया है ।
व्यक्ति विशेष के द्वारा तो केवल मत, पंथ,सम्प्रदाय, मज़हब,रिलिजन आदि चला करते हैं ।
इसलिये अपने सनातनी हिन्दू होने पर गर्व करें.