Wednesday, December 24, 2014

RAPIST AND BLOOD THIRSTY AJMER'S MOINUDDIN CHISTI

महमूद ग़ज़नवी ने वर्ष १००१-१०१८ लगभग २० लाख हिन्दुओ का क़त्ल इस्लाम नहीं कबूल करने पर किया था।
१००१ में हिन्दुओ के महान राजा जयपाल के हारने के वाद उनकी वहु वेटिओ का वलात्कार उन्ही के सामने सरे आम किया था।
थानेसर के युद्ध में हिन्दुओ का रक्त ऐसे प्रवाहित हो रहा था जैसे वरसात का पानी।
सोमनाथ अकेले ५०००० हिन्दुओ का क़त्ल करते हुए शिवलिंग को टुकड़े टुकड़े करते हुए अफगानिस्तान के मस्जिद के पायदान पर लगा दिया था।
मथुरा में वर्ष १०१७ में सभी के सभी कृश्ण भगवन राधा आदि की मुर्तिओ को भट्टी में गलाते हुए लगभग २० टन सोना अपने देश ले गया था. चंगेज खान , मोहमद गोरी ,अकबर , ओरंगजेब जैसे लूटेरे और वालात्करिओ के किस्से  
REF- OJASWI HINDUSTAN