Tuesday, November 4, 2014

ISLAM A CULT.

इस्लाम का प्रचार ‘‘कितना सही’ 

‘‘सच्चे हिन्दू हैं तो इस मैसेज को आग की तरह फैलायंे ताकि हर हिन्दू भाई जान सके कि हमारे खिलाफ खतरनाक षड़यंत्र रचा जा रहा है’’

 डाॅ. सिराजुर्रहमान ने मुसलमानों से अपील की है कि वे भारम में इस्लाम धर्म के प्रचार के लिए जबरदस्त अभियान चलायें। उन्हांेने दावा किया है कि जो व्यक्ति एक व्यक्ति को मुसलमान उसे जन्नत मिलेगी। उन्हांेने दावा किया कि काफिरांे कोे इस्लाम धर्म में शामिल करना इस दुनिया में सबसे उत्तम काम है। यह जिहाद में एक हजार इस्लाम के दुश्मनांे से अकेले मुकाबले करने में श्रेष्ठ है और 100 ऊंटों की कुर्बानी से भी उत्तम है। लेखक ने कहा है कि हजरत मोहम्मद साहब ने यह भविष्यवाणी की थी कि हिन्दुस्तान में काफिरांे को मुसलमान बनाने का काम करने के लिए एक खास गिरोह बनेगा। जिसे ‘इत्तबाता’ कहा जाएगा। ये लोग काफिरांे को मुसलमान बनाकर लोगांे को जन्नत का रास्ता दिखायेंगे। ये लोग जो काफिरांे को मुसलमान बनायंेगे उनके लिए अल्लाह ने स्वर्ग के दरवाजे खोल रखे हैं और वे नर्क की पीड़ा से हमेशा मुक्त रहंेगे और अनादिकाल तक जन्नत में मौज करेंगे। लेखक ने कहा कि भारत में अभिशर्क (गैर-मुसलमान) मौजूद हैं। क्योंकि यहां पर इस्लाम धर्म में उन काफिरों को शामिल करने का काम पूरी तरह से नहीं किया जा सका। इसीलिए यह हर मुसलमान के लिए जरूरी है कि वह हिन्दुआंे को मुसलमान बनाने के लिए अभियान में आगे बढ़े और दिलो-जान से इस्लाम के प्रचार व प्रसार के काम जुट जायंे और उस गिरोह में शामिल हो जायें जिसको पैगम्बर ने हमेशा के लिए जन्नत में शामिल होने की गारंटी दी हुई है।डाॅ. सिराजुर्रहमान ने मुसलमानों से अपील की है कि वे भारम में इस्लाम धर्म के प्रचार के लिए जबरदस्त अभियान चलायें। उन्हांेने दावा किया है कि जो व्यक्ति एक व्यक्ति को मुसलमान उसे जन्नत मिलेगी। उन्हांेने दावा किया कि काफिरांे कोे इस्लाम धर्म में शामिल करना इस दुनिया में सबसे उत्तम काम है। यह जिहाद में एक हजार इस्लाम के दुश्म...नांे से अकेले मुकाबले करने में श्रेष्ठ है और 100 ऊंटों की कुर्बानी से भी उत्तम है। लेखक ने कहा है कि हजरत मोहम्मद साहब ने यह भविष्यवाणी की थी कि हिन्दुस्तान में काफिरांे को मुसलमान बनाने का काम करने के लिए एक खास गिरोह बनेगा। जिसे ‘इत्तबाता’ कहा जाएगा। ये लोग काफिरांे को मुसलमान बनाकर लोगांे को जन्नत का रास्ता दिखायेंगे। ये लोग जो काफिरांे को मुसलमान बनायंेगे उनके लिए अल्लाह ने स्वर्ग के दरवाजे खोल रखे हैं और वे नर्क की पीड़ा से हमेशा मुक्त रहंेगे और अनादिकाल तक जन्नत में मौज करेंगे। लेखक ने कहा कि भारत में अभिशर्क (गैर-मुसलमान) मौजूद हैं। क्योंकि यहां पर इस्लाम धर्म में उन काफिरों को शामिल करने का काम पूरी तरह से नहीं किया जा सका। इसीलिए यह हर मुसलमान के लिए जरूरी है कि वह हिन्दुआंे को मुसलमान बनाने के लिए अभियान में आगे बढ़े और दिलो-जान से इस्लाम के प्रचार व प्रसार के काम जुट जायंे और उस गिरोह में शामिल हो जायें जिसको पैगम्बर ने हमेशा के लिए जन्नत में शामिल होने की गारंटी दी हुई है।