Friday, August 15, 2014

Yogi AdityaNath speech on Communal violence issue in Lok Sabha

गोरखपुर - गोरखपुर से भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ जी ने जिस तरह से अपना पक्ष रखा है, उसने सेकुलरिज्म के नाम पर देशद्रोह की राजनीति करने वालों की धज्जियां उडा कर रख दी।

उनके भाषण के कुछ अंश............

१. मस्जिद मंदिर पास है केवल मंदिर के लाउडस्पिकर हटाये गये मस्जिद के लाउडस्पिकर वही रह गये क्या यही सेकुलरिज्म है ?
२. मुसलमानों के खिलाफ जुल्म चाहे म्यांमार में हो या ईराक फिलिस्तीन में लेकिन उसके खिलाफ प्रदर्शन मुंबई और दिल्ली में क्यूँ होते है?
३. मेरठ में बालिका को बंधक बनाकर रेप हुआ लेकिन ये कांग्रेस और बाकि दल चुप रहे
४. ये कांग्रेस वाले आज़ाद मैदान वाले दंगो पर चुप रहते है।
५. असम में अली और कुली का नारा देकर बांग्लादेशियों को किसने बसाया?
६. देश में 12 लाख साधू संत हैं, लेकिन सिर्फ मौलवियो को सरकारी वेतन क्यों?
७. कांग्रेस असम के दंगो पर चुप क्यों हो गयी थी?
८. कब्रिस्तान की दीवार पर 300 करोड़ क्यों? श्मशान घाट की घेराबंदी क्यो नही?
९. मुस्लिम बालिकाओं की शिक्षा के लिए स्पेशल फंड! क्या हिन्दू बालिकाएं स्कूल नही जाती?
१०. सहारनपुर में कोर्ट के आदेश के बावजूद विवादित जमीन पर गुरुद्वारा क्यों नही बनवाया?
११. सहारनपुर दंगे में शामिल कांग्रेस नेताओं पर क्या कार्यवाही की गयी?
१२. क्या सेकुलरिज्म के नाम पर पाकिस्तान का अजेंडा लागु किया जा रहा है? बेहद सटीक सवाल जिनका कोई जवाब कांग्रेस या दुसरे दलों पर नही था।
धन्य हैं योगिश्री आदित्यनाथ जी, जिन्होंने कुछ दिन पहले ही लोकसभा में गौहत्या निषेध विधेयक, समान नागरिक संहिता पर कानून बनाने की मांग की थी। योगी आदित्यनाथ जी (ठा0 अजय सिंह) जी को भारतवासियों की और से शत शत नमन।