Wednesday, July 2, 2014

पंचमुखी हनुमान पाकिस्तान में -१७ लाख साल


कराची- पाकिस्तान में है एक ऎसा मंदिर जहां भगवान राम पहुंचे। १७ लाख साल पहले बने इस पंचमुखी हनुमान मंदिर में हर मनोकामना पूर्ण होती है।
पाकिस्तान के सिंध प्रांत के कराची में स्थित इस मंदिर का पुर्ननिर्माण १८८२ में किया गया। मंदिर में पंचमुखी हनुमान की मनमोहक प्रतिमा स्थापित है।

त्रेता युग से है संबंध

बताया जाता है कि हनुमानजी की यह मूर्ति डेढ़ हजार साल पहले प्रकट हुई थी। जहां से मूर्ति प्रकट हुई वहां से मात्र ११ मुट्ठी मिट्टी को हटाया गया और मूर्ति सामने आ गई। हालांकि इस रहस्मयी मूर्ति का संबंध त्रेता युग से है।
मंदिर पुजारी का कहना है कि यहां सिर्फ ११-१२ परिक्रमा लगाने से मनोकामना पूरी हो जाती है। हनुमानजी के अलावा यहां कई हिन्दु देवी-देवताओं की मूर्तियां स्थापित हैं। गौरतलब है कि इस मंदिर के दर्शन भाजपा नेता लाल कृष्ण आडवाणी और जसवंत सिंह भी कर चुके हैं।
स्त्रोत : पत्रिका